अप्रैल (April) का महीना है, गर्मियों का मौसम (Summers) शुरू हो गया है और बच्चों की छुटियाँ (Vacation) भी शुरू हो गयी हैं। इस समय जब गर्मी आपको परेशान करने लगी हो तो कहीं घूमना तो बनता है। जल्दी से उठाइये अपना बैग और निकल पड़िये हमारे साथ अप्रैल की छुट्टियों (April Vacation) का आनंद उठाने के लिए। ठंडी जगहों पर जाने के लिए इस समय से बेहतर कोई भी समय नहीं होता है। यह मौसम सभी के लिए घूमने के लिए अनुकूल होता है चाहे वो बच्चा हो या बड़ा। यहाँ हम आपको बताने जा रहे हैं भारत के कुछ ऐसे दर्शनीय स्थल (Tourist Places) जहाँ आप अप्रैल (April) की छुट्टियों (Vacation) के मजे ले सकते हैं।

अप्रैल में घूमने की जगह।- 15 Places To Visit In April.

हालाँकि अप्रैल (April) के महीने में मैदानी इलाकों में गर्मी का मौसम (Summer Season) होता है और ऐसे समय में छुटियाँ (Vacation) मनाने के लिए हिल स्टेशन (Hill Station) से अच्छी जगह कोई नहीं जहाँ अप्रैल के समय में सुहाना मौसम होता है। हल्की-हल्की ठंडी हवा के बीच खिलती हुई धुप में घूमने का मज़ा ही कुछ और है। तो ये हैं ऐसी ही 15 जगह जहाँ आप अप्रैल की छुट्टियां (Vacation) मना सकते हैं।

कुल्लू-मनाली (Kullu-Manali)-

हिमालय की गोद में बसे कुल्लू और मनाली (Kullu-Manali) में घूमने के लिए देश और विदेश से लाखो सैलानी (Tourists) हर साल यहाँ आते हैं। सर्दियों में कुल्लू-मनाली (Kullu-Manali) बर्फ से ढका रहता है लेकिन गर्मी की शुरुआत होते ही बर्फ पिघलने लगती यहाँ का मौसम सभी के लिए घूमने के अनुकूल हो जाता है। सर्दियों के मौसम में भी यहाँ सैलानी बर्फ़बारी (Snow Fall) का आनंद लेने आते हैं। यहाँ घूमने के लिए रोहतांग दर्रा (Rohtang Pass), सियाली महादेव मंदिर (Siyali Mahadev Temple), हिडिम्बा देवी मंदिर (Hidimba Devi Temple) मुख्य जगहों में से हैं।


शिमला (Shimla)-

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजधानी शिमला (Shimla) पहाड़ों की रानी के नाम से भी जानी जाती है। ब्रिटिश शासकों द्वारा बसाया गया शहर शिमला (Shimla) अपने मॉल रोड (Mall Road) और ब्रिटिश कालीन इमारतों के लिए मशहूर है। यहाँ के प्रमुख दर्शनीय स्थलों (Tourist Places) में मॉल रोड (Mall Road) के आलावा जाखू मंदिर (Jakhu Temple), क्राइस्ट चर्च (Christ Church) और वाइसराय लॉज मुख्य हैं। एशिया का सबसे बड़ा नेचुरल आइस स्केटिंग ग्राउंड (Natural Ice Skating Ground) भी शिमला (Shimla) में ही स्थित है जहाँ हर साल लाखों लोग आइस स्केटिंग (Ice Skating) का आनंद लेते हैं।


धर्मशाला (Dharmshala)-

बौद्ध धर्म से प्रभावित हिमांचल प्रदेश (Himanchal Pradesh) का यह क्षेत्र प्राकृतिक सुंदरता और शांतिमय माहौल के कारण पूरे देश ही नहीं विदेशों में भी प्रशिद्ध है। अगर आप अपनी छुट्टियां हरे भरे शांतिमय माहौल में बिताना चाहते हैं तो धर्मशाला (Dharmshala) से अच्छी जगह कोई हो ही नहीं सकती है। धर्मशाला बौद्ध धर्मगुरु दलाईलामा निवास स्थान भी है। यहाँ के अन्य आकर्षणों में काँगड़ा देवी मंदिर (Kangra Devi Temple), ज्वाला देवी मंदिर (Jwala Devi Temple), चिंतपूर्णी मंदिर (Chintapurni Mata Temple) आदि प्रमुख हैं।


जिम-कॉर्बेट पार्क और लैंसडाउन (Jim Corbett And Lansdowne)-

उत्तराखंड की पहाड़ियों में बसा एक छोटा सा हिल स्टेशन लैंसडाउन भी अंग्रेज़ों द्वारा बसाया गया है। लैंसडाउन अपनी प्राकृतिक सुंदरता के प्रसिद्ध है। लैंसडाउन के नजदीक ही जिम कोर्बेट पार्क स्थित है जो बंगाल टाइगर के लिए प्रसिद्ध है। जिम-कॉर्बेट पार्क की प्रसिद्धि के कारण यहाँ आने वाले सैलानियों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।
उत्तराखंड (Uttarakhand) के गढ़वाल मंडल में स्थित औली (Auli) गर्मियों और सर्दियों दोनों मौसम में सैलानियों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।


पंचगनी और महाबलेश्वर (Panchgani And Mahabaleshwar)-

पंचगनी (Panchgani) महाराष्ट्र में कृष्णा नदी के किनारे पर बसा हुआ हिल स्टेशन है जो घने पेड़ों से ढका हुआ है। अंगेज़ों द्वारा गर्मी से बचने के लिए बनाये गए इस हिल स्टेशन के पास महाबलेश्वर (Mahabaleshwar) हिन्दू आस्था का प्रतीक है। पंचगनी और महाबलेश्वर (Panchgani And Mahabaleshwar) गर्मियों की छुट्टियां (Summer Vacation) मनाने के लिए बहुत अच्छी जगह है।


लोनावला और खंडाला (Lonavala And Khandala)-

महाराष्ट्र (Maharashtra) के पुणे (Pune) में स्थित लोनावला (Lonavala) पहाड़ पर बसा हुआ एक छोटा सा शहर है। यही पास में खंडाला (Khandala) हिल स्टेशन (Hill Station) है जो गर्मियों में सैलानियों (Tourists) से भरा रहता है। पहाड़ की चोटी से वादियों के नज़ारे देखते ही बनते हैं।


ऊटी (Ooty)-

ऊटी (Ooty) तमिलनाडु (Tamilnadu) का एक हिल स्टेशन (Hill Station) पर बसा शहर है जहाँ सर्दियों में तापमान शून्य डिग्री तक पहुंच जाता है। लेकिन गर्मियों में यहाँ का मौसम सुहाना रहता है। हर साल यहाँ लाखों सैलानी (Tourists) घूमने के लिए आते हैं। ऊटी झील (Ooty Jheel), डोडाबेट्टा पीक (Dodabetta Peak), कलहट्टी फॉल (Kalhatti Falls) यहाँ के प्रमुख आकर्षणों हैं।

कुर्ग (Coorg)-

कर्नाटक (Karnataka) के दक्षिण-पश्चिम में पहाड़ी पर बसा हुआ कुर्ग (Coorg) जंगल, पहाड़ों और चाय व कॉफ़ी के बागानों के लिए प्रसिद्ध है। ईपू फाल्स यहाँ के प्रमुख आकर्षणों में से एक है जिसका रामायण काल से सम्बन्ध भी बताया जाता है।

मुन्नार (Munnar)-

दक्षिण भारत (South India) की हरी भरी पहाडी श्रृंखलाओं में बसा हुआ शहर मुन्नार (Munnar) पूरे साल भर देश विदेश के सैलानियों (Tourists) से भरा रहता है। धरती का स्वर्ग (Heaven Of Earth) कहे जाने वाले केरल में स्थित मुन्नार (Munnar) को ईश्वर का शहर भी कहा जाता है। यहाँ के प्रमुख आकर्षण में मट्टुपेट्टी (Mattupetti), इराविकुलम नेशनल पार्क (Eravikulum National Park), अथुकड फाल्स (Athukad Falls) और टी म्यूजियम (Tea Museum) हैं।

माउंट आबू (Mount Abu)-

राजस्थान (Rajasthan) का एक मात्र हिल स्टेशन (Hill Station) को ऐतिहासिक इमारतों (Historical Monuments) और मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है। पहाडों पर बसे होने के कारण यहाँ का तापमान राजस्थान (Rajasthan) के अन्य क्षेत्रों की अपेक्षा कम रहता है। दिलवाड़ा मंदिर (Dilwada Temple), अचलगढ़ किला (Achalgarh Fort), गुरु शिखर, नक्की झील, गौमुख मंदिर, माऊंट आबू वाइल्डलाइफ सैंक्चुअरी (Mount-abu Wildlife Sanctuary) आदि यहाँ के प्रमुख आकर्षण हैं।
भारत के उत्तर पूर्व में स्थित मेघालय (Meghalaya) की राजधानी शिलांग (Shilong) अपनी सभ्यता, खूबसूरती और मौसम के लिए पहचाना जाता है। घूमने के शौक़ीन लोगों के लिए शिलांग (Shilong) में घूमने के बहुत जगह हैं जिनमे एलीफैंट फाल्स (Elephant Falls)वार्डस लेक (Wards Lake), शिलांग पीक (Shilong Peak), कैलोंग रॉक, हैप्पी वैली, चेरापूंजी (Cherapunjee)मावसामी केव (Mawasami Cave)रुट ब्रिज (Root Bridge) आदि प्रमुख हैं।


नैनीताल (Nainital)-

उत्तराखंड (Uttarakhand) के कुमायूँ क्षेत्र में नैनी झील के किनारे पर बसा हुआ नैनीताल (Nainital) साल भर सैलानियों (Tourists) से भरा रहता है। नैना देवी मंदिर, नैनी झील, मॉल रोड (Mall Road) और रोपवे (Rope-Way) यहाँ के प्रमुख आकर्षण के केंद्र हैं। 

गंगटोक (Gangtok)-

सिक्किम (Sikkim) की राजधानी गंगटोक (Gangtok) मंदिर, महलों और बौद्ध धर्म के मठों के लिए प्रशिद्ध है। हनुमान टोक, गणेश टोक, ताशी व्यू पॉइंट, रुमटेक और लामपोखरी यहाँ के प्रमुख आकर्षणों में से हैं।


दार्जीलिंग (Darjeeling)-

पश्चिम बंगाल (west Bengal) के पहाड़ी इलाको में बसा दार्जिलिंग (Darjeeling) अपने चाय के बागानों के लिए विश्वभर में प्रसिद्ध है। हरे भरे पहाड़ों में बसे हुए दार्जीलिंग (Darjeeling) में गर्मियों की छुटियाँ (Summer Vacation) मनाने के लिए से लाखों सैलानी (Tourists) हर साल यहाँ आते है। दार्जिलिंग (Darjeeling) की टॉय ट्रैन (Toy Train) की सवारी यहाँ का प्रमुख आकर्षण है। आप यहाँ टॉय ट्रैन के अलावा टाइगर हिल, हैप्पी वैली, पीस पैगोडा और रोपवे आदि का लुफ्त उठा सकते हैं।



loading...

Post a Comment